Hindi Thought by Prateek Dave

एक जिंदगी और हज़ार खवाब
किसे जिएं और किसे भूल जाएं

-Prateek Dave

View More   Hindi Thought | Hindi Stories