Hindi Shayri by Prateek Dave

मेरे लिए वक़्त का पहिया वहां आकर रुका था
जहाँ तेरे सजदे में मेरा सर झुका था ...

-Prateek Dave

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories