Hindi Thought by Alka Agrawal

सबके नसीब में हो खुशी,
कहाँ मुमकिन ऐसा।
कुछ लोग जी लेते हैं,
ग़मों के साये में खुशी से।
read more

View More   Hindi Thought | Hindi Stories