Gujarati Thought by Urmi Chauhan

#સ્વાદિષ્ટ

Ishan shah 9 month ago

Ture 🙌 perfect 💯

Urmi Chauhan 9 month ago

Right.... Thank you

shekhar kharadi Idriya 9 month ago

बिलकुल सही.. क्योंकि एक स्त्री ही हैं जो पुरे संसार में बिना छुट्टी लिए चौबीसे घंटे गृहस्थ कार्य में व्यस्त रहतीं हैं, वो भी स्वयं का अस्तित्व भूलाकर दुसरों के सपनें संवारती रहतीं हैं, फिर भी उसे योग्य आदर-सत्कार नहीं मिलता, जिसकी वो हकदार है, इसलिए उसके कार्य कि प्रसंशा एवम प्रोत्साहित करना अति आवश्यक है । तभी तो रिश्तों में अधिक मीठास बनीं रहेगीं..।।

View More   Gujarati Thought | Gujarati Stories