Hindi Poem by Mahek Parwani

#भद्दा
संभल संभल कर चलता जा,
हर मोड़ पर है खड़ा पहरेदार कर्मो का,

हर चौरा

read more

View More   Hindi Poem | Hindi Stories