Hindi Shayri by Arjuna Bunty

कोई मुझको बताएं जिंदगी क्यों हो रही जार जार
खेल रहा प्रकृति से इंसान क्यों बन रहा है

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories