Hindi Shayri by Krutika : 111524595

जख़्म इतने गहरे है, इजहार क्या करें
हम खुद निशाना बन गए, वार क्या करे
मर गये हम मगर खुली रह गई आंखे हमारी
अब इससे

read more
Jaydeep Makwana 1 month ago

Waah, very nice 👌

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories