Hindi Shayri by अnu

माना इतने बेहतरीन नहीं है हम लेकिन,

बात बात पर रंग बदले इतने भी रंगीन नहीं है हम।

Gaurang 8 month ago

खुद की खूबियां हम बया नहीं करते, जूठी तस्लिया हम किसी को दिया नहीं करते,

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories