Hindi Shayri by Dr.Krupali Meghani

#केवल

बेहिसाब यूं आंखों से बोलना अच्छा नहीं।
मोहब्बत है हमसे, तो लफ्जो में भी

read more
Hitesh Rathod 11 month ago

वो मुहब्बत ही क्या जो अल्फ़ाज़ की मोहताज ‌रहे हमेशा, आंखों ‌से बहेतर भला कौन कर सकता है मुहब्बत को बयां।

Jignesh Sagar 11 month ago

Wonderful👏🏻👏🏻👏🏻

Navneet Kumar Singh 11 month ago

ज़ख्म दिखते हैं।

Dr.Krupali Meghani 11 month ago

Thank you akshu 😊😊

Kanu Bharwad 11 month ago

લાજવાબ.... અદ્ભૂત....

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories