Hindi Thought by Sonali Jadhav Dhotre

"हजारो फुल चाहिये एक माला बनाने के लिये, हजारो दीपक चाहिये एक आरती सजाने के लिये, हजारो बुंदे चाहिए समुंदर के लिये, पर

read more

View More   Hindi Thought | Hindi Stories