Hindi Romance by Shobha Sharma : 111388747

कर श्रंगार प्रकति मतवारी हो गई,
कुहू कुहू टेरती,
कोयल फगुनारी हो गई।
खिले गुलाब और गेंदा, लदी है आम्र मंजरी,

read more
Brijmohan Rana 5 month ago

बेहतरीन रचना ,शानदार सृजन ।

View More   Hindi Romance | Hindi Stories