Hindi Shayri by Vivek Kumar

#वसंत
बनकर पतझड़ सा कोरोना
सोचा हमे आएगा रोना
वक्त वक्त की बात है ये भी गुजर जा

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories