Hindi Poem by Pranjali Awasthi : 111368092

"मुट्ठी भर रंग"

प्रेम में लिखे गये
कहे गये किस्से
हर पहलू को चूमती शब्दों की तितलियाँ हैं
जो जानती हैं
read more

View More   Hindi Poem | Hindi Stories