Hindi Shayri by Kishan4ever@kgbites : 111329215

रात में एक टूटता तारा देखा बिलकुल मेरे जैसा था,

 चाँद को कोई फर्क नहीं पड़ा बिलकुल तेरे जैसा था..✍️

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories