Hindi Shayri by anjana Vegda : 111324900

दिल में उठे दर्द को भी हमने छुपाना सीख लिया,
नम आंखों से कर परदा मुस्कुराना सीख लिया।
-@njana Vegda

Rudrarajsinh 8 month ago

क्या लिखुँ और कितना लिखुँ दिल के अहसासों को, जिन्दगी भरी पड़ी है अनकहें अल्फाजों से...!

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories