Hindi Shayri by MB Publication : 111308649

तुम्हें पाना बिल्कुल ऐसा था
जैसे किसी प्राचीन नगर की खुदाई में
किसी पुरातत्ववेत्ता को
मिल गयी हो
रत्न जड़

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories