Free Hindi Shayri Quotes by Mahi Joshi | 111275690

*वक्त, ख्वाहिशें और सपने...हाथ में बंधी घङी की तरह होते हैं.....*

*जिसे हम उतार कर रख भी दें, तो भी चलती रहती है.....*
MD

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories