Hindi Blog by Varman Garhwal : 111165837

रिश्तों के बंधन में कई ख्वाहिशें सदा के लिए दिल में दबी रह गई,

अरमान बहुत थे लेकिन जिन्दगी दुनियादारी में उलझी

read more

View More   Hindi Blog | Hindi Stories