Free English Poem Quotes by SHAMIM MERCHANT | 111758389

*यादों का नज़राना*

हमें साथ रहेते गुज़र गया एक सदियों भरा ज़माना,
आज आपकी खिदमत में पेश हैं उन्हीं यादों का नज़रान

read more

View More   English Poem | English Stories