Free Hindi Shayri Quotes by उषा जरवाल | 111751376

आख़िरी दम तक तुम कर लो कोशिशें मेरी कश्ती को डुबोने की ,
मैं भी वो माँझी हूँ जिसे आदत है तूफ़ानों से टकराने की ।

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories