Free English Shayri Quotes by Bhakti Soni | 111740960

मुस्कुराता ख़ूबसूरत फूल संध्या को मुरझा गया
और में पागल थी जो उसकी मुस्कुराहट पर फ़िदा हो गई।

-BhAkTi SoNi

View More   English Shayri | English Stories