Free Hindi Shayri Quotes by Abbas khan | 111736370

उसकी जुदाई को लफ़्ज़ों में
कैसे बयान करें,
वो रहती दिल में धडकती दर्द में
और बहती अश्क में।

@Quote..

Abbas khan 2 month ago

આભાર..નિધિ બહેન..🙏

Abbas khan 2 month ago

Thank you..bhavesh bhai..💐

Abbas khan 2 month ago

ખૂબ ખૂબ આભાર...ભાઈ...💐

Abbas khan 2 month ago

ओहो बहोत खूब कहा ।।।।👍 मेरे दिल का दर्द अभी ताजा-ताजा है। गिर पड़ते हैं मेरे आंसू मेरे ही कागज पर। लगता है कि कलम में स्याही का दर्द ज्यादा है।

Abbas khan 2 month ago

આભાર .....બહેન..🙏

Zainab Makda 2 month ago

वाह... आपके लफ्ज़ में जो भीगी भीगी सी लिखावट है, स्याही में थोड़ी सी आपके अश्कों की मिलावट है... कलम चलती है तो दिल की आवाज लिखते है, आप जब भी उसकी याद में अल्फाज़ लिखते है...

Abbas khan 2 month ago

આભાર..દર્શીતા બહેન..🙏

Abbas khan 2 month ago

Thanks...anurag bhai..💐

Abbas khan 2 month ago

Thanks..shekhar bhai..💐

Abbas khan 2 month ago

Thank you..dr..damaynti ji..🙏

Abbas khan 2 month ago

Thank you..shefali bahen.🙏

Abbas khan 2 month ago

बहोत बहोत शुक्रिया,,,,बहेना,,,🙏

Tinu Rathod _તમન્ના_ 2 month ago

बहोत बढ़िया..👏👏

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories