Free Hindi Shayri Quotes by आचार्य जिज्ञासु चौहान | 111736292

अब मां पास नहीं है,
आज उसी का दिन है।

क्यों हर कोई मुझे,
मां की याद दिलाने में लगा है!

रुक जाओना !
बहोत द

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories