Free Hindi Shayri Quotes by SUBHAY KUMAR KOL Official | 111722285

की वो ऋतु है और तीन महीने से ज्यादा रुकती नहीं,subhay
और अब तो टाइम से पहले ही अगई, जो मुझे जो पसंद है को ऋतु कब आए गी।

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories