Hindi Shayri by Anand Tripathi

खुली किताब का पन्ना हो तुम
जिसका एक एक अक्षर ये गवाही देता है
की जो तुम हो कोई और नहीं हो सकता है
जन्म जन्म भर अ

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories