Free Hindi Shayri Quotes by बृजेश बनारसी | 111673479

उदास हूं वजह तुम हो,
नाराज़ हूं रब से वजह तुम हो,
मेरी खुशियों की वजह थी ना,
मेरे गमो का समंदर भी तुम हो।

-stfl143(

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories