Hindi Thought by S Sinha

बंद आँखों में सपने संजोये हैं कितने ,
काश हमारी आँखों में तुम देख पाते ,
तो हमारे दर्द को समझ सकते

shekhar kharadi Idriya 2 month ago

वाह...बहुत खूब...

S Sinha 2 month ago

Thanks Jiraraji

View More   Hindi Thought | Hindi Stories