Hindi Thought by S Sinha

मिलता है जहाँ सागर से गगन ,
काश वहां होता अपना मिलन ,
छोड़ कर दुनिया की भीड़ ,
बसा लेते अपना अलग नीड़

S Sinha 2 month ago

Thanks Shekharji

shekhar kharadi Idriya 2 month ago

बहुत खूब..

View More   Hindi Thought | Hindi Stories