Free Hindi Poem Quotes by Krunalmore | 111656551

अनजानी आँखो की चमक से
अनसुने ख्वाबो की नजर तक
मिली तसवीरो की झलक से
मुस्कुराने की वजह तक
बस तु ही तु है
बस

read more

View More   Hindi Poem | Hindi Stories