Hindi Poem by Pratham Shah

हाथों में तलवार भवानी,
जैसे महाराणा का भाला था।
उस भगवे को कौन झुका सका,
जिसे छत्रपति ने संभाला था॥

शेर

read more
Soni Kumari 3 month ago

Awesome 👌👌

View More   Hindi Poem | Hindi Stories