Hindi Quotes by Sarvesh Saxena

इंसान की नासमझी की हद तो तब होती है जब वह जिंदगी भर उसी के लिए रोता रहता है जो उसे जिंदगी भर के लिए रुला कर चला गया हो औ

read more

View More   Hindi Quotes | Hindi Stories