Hindi Shayri by शब्दांकूर : 111615854

दो जिस्म न हो रेशम का भी अंतर
कभी आकर मुझसे मिलना इतना करीब से

-शब्दांकूर

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories