Hindi Shayri by ए- हुस्न - की - राजकुमारी : 111614764

कान्हा तेरी प्रीत में क्या उलझ गए,
दुनिया के सारी खुशी मेरे ख्वाब में बसने लगे,
मीठी आवज है जो तेरी निंदिया में भ

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories