Hindi Poem by Bhumika : 111606053

तू चाहे तो मेरी जान लेले,
तुझे इजाज़त है।
मेरा इश्क़ सिर्फ अल्फ़ाज़ नहीं,
इबादत हैं...

- "लिहाज"

View More   Hindi Poem | Hindi Stories