Hindi Shayri by ए- हुस्न - की - राजकुमारी : 111597717

तुम्हारा दिल मेरे दिल के बराबर हो नहीं सकता,
वो शीशा हो नहीं सकता ये पत्थर हो नहीं सकता।

ए- हुस्न - की - राजकुमार

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories