Hindi Thought by Sandip

वक़्त तब भी हमारा था
वक़्त अब भी हमारा है
तब हम खोये-खोये से थे
तब हम सोये-सोये से थे
अब हम कुछ करने का बीज़ ब

read more

View More   Hindi Thought | Hindi Stories