Hindi Shayri by hardik boricha : 111595407

बता कहाँ,, गुजारनी है जिंदगी की शाम हमे ,,
तेरे बताये,,रास्ते पर ही हैं,,,
जब चाहो हमे मिल लेना।।

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories