Quotes, Poems or Blogs | Matrubharti

जो कभी किसी का साथ नहीं पाती हूँ ,
तो मेरे साथ होती है 'माँ' ,
क्योंकि तु मेरी परछाई हैं ||

जो कभी मार्ग से मैं भट

read more

View More   Hindi Poem | Hindi Stories