English Thought by Sachinam : 111590244

"ना किसीसे दोस़्ती हैं, ना किसीसे दुश़्मनी हैं,
हम तो रब़ के बंदे हैं, हमपर रब़ की रोश़नी हैं !!
read more

View More   English Thought | English Stories