Hindi Shayri by Arjuna Bunty

जिंदगी की भागम भाग से थक कर
अकेले अलग थलग पर जाए आपके हालात
दिलों में है दूरियां और न हो कोई पास
एक ही सहारा है

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories