Hindi Shayri by सोनू समाधिया रसिक

वो आँखों से यूँ शरारत करते हैं,
अपनी अदा से भी कयामत करते हैं,
निगाहें उनकी भी चेहरे से हटती नहीं,
और वो हमारी न

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories