Hindi Shayri by Tara Gupta : 111584305

हो गई सारी इच्छा पूरी, नहीं रही है तृष्णा प्यासी। एक तुम्हारे आ जाने से, दूर हो गई गहन उदासी।।

-Tara Gupta

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories