Hindi Shayri by ALOK SHARMA : 111581283

बनाया था किसी के लिए
फूलों का वो गुलदस्ता
सोंचा था इजहार ए इश्क़ पर देंगे
पर वो दिन आने से पहले ही
फूल मुरझा

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories