Hindi Shayri by Ritu

ये जुल्फ़े तेरे चहरे की पहरेदारी बड़ी संजीदगी से करती है रितु .......
जब जब चहरे के दीदार के लिए झुकते है पूरे चहरे को अ

read more
Ritu 7 month ago

शुक्रिया 🙏

Ritu 7 month ago

शुक्रिया पारुल जी🙏

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories