Hindi Poem by Bhupendra Dongriyal : 111573891

        "खुद को बचाइए"

जनता जनार्दन का नाम लेकर जाइए।
संसद से सड़क तक खुद को बचाइए।।

संसद में संविधान की सौं

read more
shekhar kharadi Idariya 1 month ago

यथार्थ प्रस्तुति

View More   Hindi Poem | Hindi Stories