Hindi Shayri by ALOK SHARMA : 111572735

बेवजह ही पूछ बैठे हालात ए ज़िंदगी उनकी हमे क्या पता हमारी ही ज़िदगी बर्बाद करने की साज़िश रचे बैठे हैं

- आलोक शर्मा

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories