Hindi Poem by Deepak Gautam : 111569108

सूरज की किरणें पड़ती हम सब पे एकसमान l
हवा, पानी का भी है यही रूझान ll
प्रकृति को नहीं कोई अभिमान ll
फिर क्यों भेदभ

read more

View More   Hindi Poem | Hindi Stories