Hindi Shayri by Kish

रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिए आ

अहमद फराद

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories