Hindi Shayri by Monika : 111568203

जिन्दगी में हर पल है अस्थाई
फिर किस बात की रह गई लड़ाई
जीवन का रहस्य कोई नहीं समझ पाया
एक एक दिन सभी ने मौत को ग

read more
shekhar kharadi Idariya 1 month ago

निस्संदेह.... फिर भी जीना का मोह इंसान से नहीं छूटता, वो मौत को चुनौती देता है, इस क्षणभंगुर संसार में सब अस्थाई है ।।

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories