Hindi Shayri by Nimisha : 111559740

यूं दूर जाकर हमसे आप क्या पाएंगे
बिन हमारे अधूरे थे अधूरे ही रह जाएंगे
✍️ निमिषा

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories